सेंसेक्स में 890 और निफ्टी में 240 अंकों से ज्यादा की गिरावट - Textnews1-Breaking News, Latest News In Hindi

Textnews1-Breaking News, Latest News In Hindi

Breaking News, Latest News From India And World Including Live News Updates, Current News Headlines On Politics, Cricket, Business, Entertainment And More Only On Textnews1.online.

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

2020-10-15

सेंसेक्स में 890 और निफ्टी में 240 अंकों से ज्यादा की गिरावट

सेंसेक्स में 890 और निफ्टी में 240 अंकों से ज्यादा की गिरावट

सेंसेक्स में 890 और निफ्टी में 240 अंकों से ज्यादा की गिरावट, एमकैप भी 2 लाख करोड़ रु. घटा, RIL और इंफोसिस के शेयर 3-3% फिसले
कमजोर ग्लोबल संकेतों के कारण शेयर बाजार में भारी बिकवाली है। बाजार के लगभग सभी सेक्टर गिरावट के साथ कारोबार कर रहे हैं। बीएसई सेंसेक्स 890.81 अंक नीचे 39,903.93 पर और निफ्टी 243.30 अंक नीचे 11,727.75 पर कारोबार कर रहा है। बाजार के दिग्गज रिलायंस इंडस्ट्रीज और इंफोसिस के शेयरों में भी 3-3 फीसदी की गिरावट है।

निफ्टी आईटी इंडेक्स में 666 और निफ्टी बैंक इंडेक्स में 604 अंकों से ज्यादा की गिरावट है। एचसीएल टेक और माइंडट्री के शेयरों में भी 5-5 फीसदी से ज्यादा की गिरावट है। वहीं, आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी बैंक के शेयरों में भी 2-2 फीसदी की गिरावट है। जबकि निफ्टी में एनटीपीसी और आईओसी के शेयरों 1-1 फीसदी की हल्की बढ़त सुबह बीएसई 253.31 अंक ऊपर 41,048.05 पर और निफ्टी 52.4 अंक ऊपर 12,023.45 के स्तर पर खुला था।
stock market latest update,share market,trade-bse,nifty,sensex live updates,share market news,share market


बाजार में भारी गिरावट की वजह

1. अमेरिका में राहत पैकेज में देरी- अमेरिकी ट्रेजरी विभाग के सेक्रेटरी स्टीव मुनचिन ने कहा कि वे और हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव स्पीकर नेंसी पेलोसी किसी भी अन्य कोरोना इकोनॉमिक रिलीफ पैकेज से काफी दूर हैं। यानी 3 नवंबर के होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले राहत पैकेज की संभावना बेहद कम है।

2. अमेरिका-चीन तनाव - रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, यूएस स्टेट डिपार्टमेंट ने ट्रम्प प्रशासन के सामने एक प्रस्तव रखा है। इसके मुताबिक चीन की दिग्गज कंपनी अलीबाबा की एंट ग्रुप को ब्लैकलिस्ट में जोड़ने की बात कही गई है। इससे बीजिंग और वाशिंगटन के बीच तनाव बढ़ सकता है।

3. कोविड-19 मामलों में बढ़ोतरी - कोरोना के मामले बढ़ने से निवेशकों को चिंता है कि सरकार दोबारा लॉकडाउन का ऐलान कर सकती है। क्योंकि यूरोपीय देश स्कूलों को बंद कर रहे हैं।

इन 5 शेयरों पर रहेगी नजर

1. माइंडट्री, आरबीएल बैंक, साइंट और ट्राइडेंट - गुरुवार को ये कंपनियां अपनी सितंबर तिमाही के नतीजे घोषित करेंगी।

2. टाइटन - रेग्यूलेटरी फाइलिंग के मुताबिक, दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला की पत्नी रेखा झुनझुनवाला ने सितंबर तिमाही में कंपनी के कुल 50 हजार शेयर बेचे हैं।

3. पीवीआर, आईनॉक्स लेजर - अनलॉक-5 के तहत देशभर में 15 अक्टूबर से सिनेमा खुलने को तैयार है। इससे पहले देशव्यापी लॉकडाउन के कारण थिएटर और सिनेमा मार्च के बाद से ही बंद हैं।

4. इंफोसिस - कंपनी के मुताबिक, सितंबर तिमाही में उसे 4,845 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हुआ है, जो यह पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 20.5% अधिक है। देश की दूसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर सर्विस कंपनी ने इस कारोबारी साल के लिए अपना आय अनुमान कांस्टैंट करेंसी में बढ़ाकर 2-3% कर दिया है, जिसे पहले उसने 2% तक रखा था। कंपनी ने ऑपरेटिंग मार्जिन का अनुमान भी बढ़ाकर 23-24% कर दिया।

5. टाटा एलेक्सी- दूसरी तिमाही में टाटा एलेक्सी का मुनाफा अनुमान से 58% ज्यादा बढ़ा है। लेकिन रेवेन्यू और एबीटा उम्मीद से कम रहा।

बुधवार को बाजार का हाल

कल बाजार लगातार 10वें दिन बढ़त के साथ बंद हुआ था। 2007 के बाद 13 सालों में ये अब तक की सबसे लंबी रैली है। बाजार में बैंकिंग शेयरों में सबसे ज्यादा बढ़त देखने को मिली थी। निफ्टी बैंक इंडेक्स में 382 अंकों की बढ़त रही थी। इसमें इंडसइंड बैंक और आईसीआईसीआई बैंक के शेयरों में 2-2 फीसदी की बढ़त के साथ बंद हुआ था। जबकि निफ्टी का टॉप गेनर बजाज फिनसर्व का शेयर रहा था, जिसका शेयर 4% ऊपर बंद हुआ था। अंत में बीएसई 169.23 अंक ऊपर 40,794.74 पर और निफ्टी 36.55 अंक ऊपर 11,971.05 पर बंद हुआ था।

दुनियाभर के बाजारों में गिरावट
बुधवार को ग्लोबल मार्केट में गिरावट देखने को मिली। अमेरिकी बाजार डाउ जोंस 0.58% की गिरावट के साथ 165.81 अंक नीचे 28,514.00 पर बंद हुआ था। वहीं, नैस्डैक भी 97.81 अंकों की गिरावट के साथ 11,985.40 अंकों पर बंद हुआ है। इसके अलावा एसएंडपी 500 इंडेक्स भी 0.66% फिसलकर 23.26 अंक नीचे 3,488.67 के स्तर पर बंद हुआ था।

यूरोपियन शेयर मार्केट में भी बुधवार को बिकवाली रही। ब्रिटेन के FTSE और फ्रांस के CAC इंडेक्स गिरावट के साथ बंद हुआ। जबकि जर्मनी का DAX इंडेक्स हल्की बढ़त के साथ बंद हुआ था। दूसरी ओर एशियाई बाजारों में आज जापान के निक्केई इंडेक्स में 139.73 अंकों की भारी गिरावट है। जबकि चीन के शंघाई कंपोजिट इंडेक्स में 0.20% की हल्की बढ़त है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Bottom Ad

पेज