राजस्थान के छात्रों के लिए खुशखबरी, प्रदेश में पहली बार लाई जायेगी नई तकनीकी शिक्षा नीति - Textnews1-Breaking News, Latest News In Hindi

Textnews1-Breaking News, Latest News In Hindi

Breaking News, Latest News From India And World Including Live News Updates, Current News Headlines On Politics, Cricket, Business, Entertainment And More Only On Textnews1.online.

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

2019-07-23

राजस्थान के छात्रों के लिए खुशखबरी, प्रदेश में पहली बार लाई जायेगी नई तकनीकी शिक्षा नीति

राजस्थान के छात्रों के लिए खुशखबरी, प्रदेश में पहली बार लाई जायेगी नई तकनीकी शिक्षा नीति 


Technical Education Policy in Rajasthan : राजस्थान में शिक्षा के प्रचार के लिए नई तकनीकी शिक्षा नीति ( Technical Education Policy ) लाने के तैयारी चल रही है। तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री Subhash Garg ने Rajasthan Vidhan Sabha में बताया कि Rajasthan Government तकनीकी शिक्षा के विस्तार को ध्यान में रखते हुए प्रदेश में पहली बार नई तकनीकी शिक्षा नीति लाने पर विचार कर रही है।

जयपुर. राजस्थान में शिक्षा के प्रचार के लिए नई तकनीकी शिक्षा नीति ( Technical Education Policy ) लाने के तैयारी चल रही है। तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री सुभाष गर्ग ( Subhash Garg ) ने सोमवार को विधानसभा ( Rajasthan Vidhan Sabha ) में बताया कि राज्य सरकार ( Rajasthan Government ) तकनीकी शिक्षा के विस्तार को ध्यान में रखते हुए प्रदेश में पहली बार नई तकनीकी शिक्षा नीति लाने पर विचार कर रही है। उन्होंने कहा कि इस नीति में आवश्यक मापदण्ड व दिशा-निर्देश आदि शामिल किये जायेंगे।
उन्होंने कहा कि वर्तमान में तकनीकी शिक्षा महाविद्यालय ( Technical education college ) खोलने के संबंध में कोई मापदण्ड निर्धारित नहीं है। विश्वविद्यालय व तकनीकी विश्वविद्यालयों के लिए मापदण्ड निर्धारित है। विश्वविद्यालय मापदण्ड व पैरामीटर की पालना सुनिश्चित करती है तथा सरकार केवल एनओसी ( NOC ) देती है।
Technical Education Policy in Rajasthan,Technical Education Policy,Rajasthan Vidhan Sabha,Rajasthan Government
उन्होंने यह भी बताया कि सरकारी एवं निजी तकनीकी शिक्षा महाविद्यालयों में ली जा रही फीस में वर्तमान में ज्यादा अन्तर नही है। वर्तमान में सरकारी महाविद्यालयों में 60 हजार एवं निजी महाविद्यालयों में 70 हजार फीस ली जा रही है। सीकर ( Sikar )व झुंझुनू ( Jhunjhunu ) जिलों में वर्तमान में जो प्रोजेक्ट चल रहे है उनमें 3 हजार 702 सीटें है।
वर्तमान में धौलपुर ( dholpur ) व करौली ( karauli ) तथा भरतपुर ( Bharatpur ) जिलों में 30 से 40 किलोमीटर परिधि में महाविद्यालय स्वीकृत है लेकिन छात्रों की संख्याा कम है उन्होंने यह भी बताया कि वर्तमान नवलगढ़ मुख्यालय पर राजकीय तकनीकी शिक्षा महाविद्यालय खोलने का विचार नही है।
नया अभियांत्रिकी महाविद्यालय खोलने की प्रक्रिया व मापदण्ड अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद ( All India Council for Technical Education ) नई दिल्ली , भारत सरकार द्वारा निर्धारित है जो कि हर साल अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद जारी Approvel प्रोसेस हैण्ड बुक में लिखे होते हैं।
उन्होंने बताया कि नवलगढ़ मुख्यालय से जिला मुख्यालय सीकर एवं जिला मुख्यालय झुंझुनू30 से 40 किलोमीटर की परिधि में स्थित है एवं जिला सीकर एवं जिला झुंझुनू में 5-5 निजी अभियांत्रिकी महाविद्यालय संचालित है, जिनमें छात्रों के प्रवेश की संख्या कुल स्वीकृत निर्धारित सीटों से लगभग 20 प्रतिशत से भी कम है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Bottom Ad

पेज